Which Chimney is Best in India

Finding the best chimney for Indian kitchen:गाइड

4.7/5 - (9 votes)
Elica Indian Chimney Image
Best chimney for Indian kitchen

किचन चिमनी में लगा उपकरण धुएं को अवशोषित कर रसोई को धुआं मुक्त करता है | इस कारण आपकी रसोई में तेल और चिप चिपचिपाहट नहीं होती है । Chimneys आपके modular kitchen को एक नया आयाम देती है । यहाँ हम best chimney for Indian kitchen पोस्ट में जानने की कोशिश करेंगे की भारत में best chimneys खरीदने के लिए आपकों क्या बाते ध्यान में रखना पड़ेगा |

चिमनी फिल्टर के प्रकार

किचन चिमनी खरीदने से पहले आपको उसके सक्शन पावर, फिल्टर type, exhaust पाइप की लम्बाई, और कवरेज एरिया के बारे में अच्छी तरह समझ लेना चाहिए | संरचना, सामग्री और फ़िल्टरिंग प्रक्रिया के आधार पर, चिमनी फ़िल्टर 4 श्रेणियों में वर्गीकृत किया गया है- 

  1. Cassette फिल्टर
  2. बाफ़ल फ़िल्टर (भारतीय भोजन के लिए सर्वोत्तम)
  3. कार्बन फ़िल्टर
  4. फ़िल्टर लेस

1.कैसेट फिल्टर

कैसेट फिल्टर एल्यूमीनियम Mesh से बना होता है जो एक दूसरे पर स्टॉक किए जाते हैं। मेष के बीच गैप के माध्यम से हवा फ़िल्टर होती है | 

धीरे-धीरे तेल के कण मेष पर चिपक जाते है और चिमनी की suction power को प्रभावित करने लगते हैं। ऐसे में कैसेट फ़िल्टर को सप्ताह में एक बार, साफ करने की जरूरत होती है। 

चिमनी को साफ करने के लिए, डिटर्जेंट की बाल्टी में कैसेट फिल्टर को डुबोएं और पानी से धोएं। जरूरत पड़ने पर इसको स्क्रब भी कर सकते हैं। 

2.बाफल फिल्टर

बाफेल फ़िल्टर एक कंट्रोल पैनल है। इसकी बनावट में कई मल्टीपल कर्व होते है। जब खाना पकाने की हवा इन कर्व से गुजरती है तो धुएं की हवा की दिशा बदल जाती है। इस प्रक्रिया के दौरान भारी तेल और धुएँ के कण को फिल्टर में ही रोक दिया जाता है 

3.कार्बन चारकोल फिल्टर

 यह एक चारकोल स्लेट से बना होता है, जिसमें छेद होते हैं और यह दुर्गंध को दूर करता है। 

4.फ़िल्टर लेस

filterless chimney में कोई भी फ़िल्टर नहीं लगा होता है |

फिटिंग के आधार पर चिमनी के प्रकार 

भारतीय बाज़ार में दो तरह की चिमंनियाँ बिकती हैं –डक्ट और डक्टलेस| 

डक्ट चिमनी

डक्ट चिमनी के साथ डक्ट पाइप दी जाती है जिसे बाहर की और exhaust धुएं को निकालने के लिए इसतेमाल किया जाता है |धुएं को पीवीसी या एल्यूमीनियम पाइप के माध्यम से बाहर निकालते हैं।

डक्टलेस चिमनी

इसके विपरीत डक्टलेस चिमनी उष्मा, ग्रीस और धुएं को अवशोषित करती है और इसमे पाइप की जरुरत नहीं होती है |

चिमनी को खरीदने से पहले इन आवश्यक features को चेक कर लेना चाहिए :

1.Auto-Clean की सुविधा

यह तय करेगा कि चिमनी को ज्यादा या कम रखरखाव की आवश्यकता है या नहीं। Auto-Clean विशेषता से चिमनी की अपने आप सफाई हो जाती है और आपको बस थोड़ी बहुत महीने दो महीने पर सफाई की जरुरत होगी | ऐसी chimneys में तेल और चिकनाहट oil tray में जा कर इकठ्ठा होती है जिसे हटा कर आप साफ़ कर सकते हैं |

2.मोटर की sealing

यह ज्ञात कर लें की मोटर को सील किया गया है या नहीं| अगर यह sealed है तो कुकिंग के टाइम धुएं या धूल के कणों मोटर में नहीं जायेंगे और इसकी लाइफ ज्यादा हो जाएगी |

3.कम शोर

चिमनी का शोर घर में आप के साथ साथ अन्य लोगो के लिए भी असुविधाजनक है |

कम शोर वाला चिमनी खाना पकाने के अनुभव को बर्बाद होने से बचाएगा |

4.फ़िल्टर type

सबसे पहली कोशिश ये करें की चिमनी में कोई भी फ़िल्टर हो ही ना | उदहारण के लिए – Faber BK 90 चिमनी जो की best chimney for Indian kitchen में से एक है |

ऐसा इसलिए की फ़िल्टर वाली चिमनी में नियमित सफाई और स्क्रबिंग की जरुरत आएगी जो की आपका अधिक वक़्त लेगी ।

5.अधिकतम सक्शन पावर

आपके घर में अगर खाना ज्यादातर तेल और मसाले वाले बनते है तो , तो आपको धुएं और गर्मी को अवशोषित करने के लिए चिमनी में एक शक्तिशाली निकास की आवश्यकता होगी। हैंडलिंग कण्ट्रोल आसान देख कर लें साथ ही अगर इसमे एलईडी लैंप लगा हो तो ऐसी चिमनी को prefer करें |

6. रसोई के तरीके अनुसार चिमनी buy करें

रसोई की चिमनी आम तौर पर दो आकारों में आती हैं, 60 सेमी और 90 सेमी। आपको अपने रसोई के आकार और रसोई के प्रकार के आधार पर एक का चयन करना चाहिए। एक 60 सेमी का एक गैस स्टोव दो या तीन बर्नर के साथ भारतीय रसोई के लिए लोकप्रिय है।

यदि आपके पास एक बड़ा कुकटॉप है, तो 90 सेमी चौड़ा चिमनी चुनें।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *