Buy Stone or Stoneless Atta Chakki In India? Compare

4.5/5 - (22 votes)

भारत में बाजार जाकर व्यावसायिक आंटा चक्की से गेंहू की पिसाई अभी भी चलन में है । किन्तु इसकी कुछ समस्याए भी है जैसे आंटा चक्की का दूर होना या आन्टा चक्की मालिक द्वारा ग्राहकों से मनमाना पिसाई मूल्य लेना । इस कारण से लोग अपने घर मे ही बिजली द्वारा चालित यानी electric gharelu aata chakki बैठाना पसंद कर रहे है |

Gharelu Atta Chakki’s in India

भारतीय बाजार मे कई प्रकार के आंटा चक्की उपलब्ध हैं ।

सबसे दाम में आप करीब 8000 -9000 रुपए तक में आंटा चक्की घर ला सकते हैं । ये मूलतः स्टोन आधारित पिसाई करते है | अगर एक आम घर की खाद्य जरुरत को देखा जाए तो ये आंटा चक्कियां पर्याप्त है | इनसे आप घंटे भर मे घर के लिए काफी अनाज पीस सकते हैं। 

अगर आपका बजट बीस हज़ार से नीचे है तो आप इलेक्ट्रिकघरेलु आंटा चक्की भी ले सकते है । इस आंटा चक्की का वजन कम ही होता है । फ्लोर मेकिंग के लिए ये आंटा चक्की मैकेनिकल ग्राइंडर का प्रयोग करते हैं । इसकी लागत 16000-2000 रुपए के लगभग आती है । अच्छी बात ये है की अब ये आटा chakki सिंगल फेज पर भी अच्छा परफॉरमेंस देते हैं |

Stone Based Atta Chakki 

Emry Stone आटा चक्की
Emry Stone का इस्तेमाल इस आटा चक्की में होता है

इस घरेलू /व्यवसायिक आंटा चक्की की कीमत इसके क्षमता पर निर्भर करती है । इस आटा चक्की में पीसाई के लिए पत्थर का इस्तेमाल होता है | एमरी पत्थर लगा हुआ यह आटा चक्की ज्यादा बारीक पीसता है , वैसे दुसरे पत्थरों का भी इस्तेमाल कुछ मशीनों में होता है | इस तरह के मशीन की कुछ खामियां भी होती हैं जैसे ज्यादा भारी होना और पत्थरों को समय समय पर बदलना पड़ता है | वैसे ये मशीन काफी जल्दी आता पीसती हैं पर बिजली की खपत भी ज्यादा है |

स्टोन घरेलू आंटा चक्की की विशेषताएं 

  • एक 3 एचपी मोटर के साथ इसकी कीमत 10000 रुपए के आसपास से शुरू होती है ।
  • इस आंटा चक्की से एक घंटा मे करीब 30 kg अनाज की पिसाई की जा सकती है । 
  • यह आंटा चक्की 220 वी पर भी चलती है । आप 3 एचपी से भी कम पावर के मोटर इसके अंदर लगा सकते हैं । 
  • इस आंटा चक्की के स्क्रीन, स्पेयर पार्ट्स और एक्सेसरीज़ को बदलना आसान होता है । गेहूं , मक्का, सोयाबीन, मटर, कॉफी बीन्स , धान चावल , सूखा मसाला , हल्दी सुखी मिर्च , सफ़ेद आइव काली मिर्च और चारा के लिए भी यह आंटा चक्की बहुत ही उपयुक्त है । 

Stoneless gharelu atta chakki

grinding rotor atta chakki
Grinding rotor

औटोमेटिक घरेलू aata chakki मिल अन्य के बनिस्पत थोड़े महंगे होते होते हैं अर्थात इसकी लागत 23000 रुपए तक होती है । इसकी खासियत यह है कि यह 230 वोल्ट पर भी चलते हैं । मूल रूप से पीसने के लिए ये पत्थर का उपयोग नहीं करते हैं बल्कि इसमे grinding rotor लगा होता है| इस तरफ की चक्की का ये लाभ है की इन्हें कम रख रखाव की जरुरत होती है| वैसे पत्थर वाली चक्की के मुकाबले इनका मोटर ज्यादा शक्तिशाली नहीं होता है पर ये भी उतनी ही बारीक गेहू पीसती हैं |

इस आंटा चक्की के लाभ हैं –

  • इसकी उच्चतम उत्पादन क्षमता 10 किलोग्राम प्रति घंटा तक है ।
  • इसमे बिजली की खपत कम होती है करीब 0.75 यूनिट प्रति घंटा के आसपास  
  • इसमे जर्मन प्रद्योगिकी पर आधारित सबसे शक्तिशाली , कुशल और बीहड़ इलेक्ट्रिक मोटर होती है ।
  • इसमे गेहूं, चावल, बाजारी, मक्का, ज्वार, कॉफी, उड़द, धनियाँ, हल्दी, डालिया , मेहंदी से लेकर मूंग , काली मिर्च आंवला आसानी से पीसा जा सकता है । 
  • औटोमेटिक डोमेस्टिक फ्लोरमिल का आकार refrigerator की तरह होता है । इसे फ्रिज की तरह घर मे कहीं भी रख सकते हैं । इसमे 4 किलोग्राम अनाज एक साथ पीस सकते हैं । 

Compare Stone & Stoneless Atta Chakki

Stone Based Atta ChakkiMechanical (stoneless) Atta Chakki
शक्तिशाली मोटर के कारण तेज पिसाई करता है मोटर ज्यादा शक्तिशाली नहीं, घरेलु जरुरत के हिसाब से ठीक
बिजली की खपत अधिक बिजली की खपत कम
पुर्जे बदलना आसान होता है सभी पुर्जे बदलना आसान नहीं
रख रखाव में ज्यादा खर्च है रख रखाव काफी आसान होता
ज्यादा शोर करता है शोर ज्यादा नहीं होता है
इसको व्यवसायिक इस्तेमाल में भी ला सकते हैं व्यवसायिक इस्तेमाल संभव नहीं

Leave a Comment

Your email address will not be published.